LATEST POSTS

Tuesday, 18 September 2018

करवा चौथ पूजा व्रत विधि | Karwa Chauth Puja Vrat Vidhi

करवा चौथ पूजा व्रत विधि 
 Karwa Chauth Puja Vrat Vidhi  


कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ का व्रत रखा जाता है यह व्रत सुहागिन महिलाए अपने पति की लम्बी आयु व स्वस्थ जीवन के लिए करती है ! हम आपको करवा चौथ व्रत पूजन विधि ( Karwa Chauth Vrat Pujan Vidhi ) के बारे में बताने जा रहे है जिन्हें आप ध्यान पूर्वक पढ़कर फायदा उठा सकते हो !!



करवा चौथ की पूजन सामग्री :
रोली, मोली, पताशा, चावल, गेहू, करवां, पानी का कलश, लाल कपड़ा, चाँदी की अँगूठी एक ब्लाउज पीस । 
करवा चौथ व्रत पूजन विधि : Karwa Chauth Vrat Pujan Vidhi : 

कार्तिक मास की चौथी तिथि वाले दिन को करवा चौथ मनाया जाता हैं ! इस दिन महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र के लिए इन दिन उपवास रखती हैं ! 
इस दिन एक करवां या गिलास लेकर उसमें चावल भरे, उसमे एक सिक्का व एक पताशा डाले व लाल कपड़े से बांध दे । कहानी सुनने के लिए मिट्टी से चार कोण का चोका लगाये ,चारो कोणों पर रोली से बिंदी लगाये । 
बीच मिट्टी या सुपारी से गणेशजी बनाकर रखे और रोली ,मोली व चावल से गणेशजी की पूजा करे ।अब चोके के ऊपर करवां रखे उसपर ब्लाउज पीस रखे ,पानी का कलश ,पताशा व चाँदी की अँगूठी रखे । अपने हाथ में चार गेहू के दाने लेकर कथा सुने ।
जब चौथ की कथा सुनने के बाद जो चार गेहू के दाने है उसे तो रात में चाँद को अर्ग देने के लिए रख ले व दुसरे चार दाने लेकर गणेशजी की कहानी सुने और उसके बाद सूर्य को अर्ग दे जो चाँदी की अँगूठी हमने पूजा में रखी थी उसे भी अर्ग देते समय हाथ में ले लेवे ।
रात में चंद्रोदय होने पर जो गेहू के दाने रखे है उससे अर्ग दे व भोग लगाये ।करवां और ब्लाउज पीस अपनी सास या ननद को दे उसके बाद अपना व्रत खोले ।



Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2019 Vrat Aur Tyohar. | All Rights Reserved '>