LATEST POSTS

Saturday, 21 September 2019

साल 2019 में कब हैं नवरात्रि,जानिए पूजन तिथि

साल 2019 में कब हैं नवरात्रि,जानिए पूजन तिथि 



साल 2019 में होने वाले त्यौहारों के बारे में हर कोई जान लेना चाहता है। हर साल की तरह साल 2019 में भी बहुत से तीज-त्यौहार होंगे ही। नवरात्रि साल में चार बार आते हैं, जिनमें से दो (चैत्र नवरात्रि 2019 और शारदीय नवरात्रि 2019) को हिंदू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इसलिए नवरात्रि 2019 की लिस्ट हम आपके लिए लेकर आए हैं, इसलिए आइए जानते हैं साल 2019 में आखिर कब हैं देवी मां के नवरात्रे... संपूर्ण भारतवर्ष में नवरात्रि प्रमुख पर्व है। इस दौरान मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। वर्ष में चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ को मिलाकर चार नवरात्र आते हैं। इनमें से चैत्र और आश्विन माह के नवरात्रि अधिक लोकप्रिय हैं।

साल 2019 चैत्र नवरात्रि की तिथि चैत्र (वासंती) नवरात्र 6 अप्रेल 2019 से नवरात्रि प्रारंभ 14 अप्रैल 2019 नवरात्रि समापन ये नवरात्रि शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवमी तक मनाए जाते हैं। चैत्र और आश्विन नवरात्रि में आश्विन नवरात्रि को महानवरात्रि कहा जाता है। यह नवरात्रि दशहरे से पहले होते हैं और दशवें दिन दशहरे होता है जो धूमधाम से मनाया जाता है। साल 2019 शारदीय नवरात्रि की तिथि आश्विन (शारदीय) नवरात्र 29 सितंबर 2019 से नवरात्रि प्रारंभ 8 अक्तूबर 2019 को नवरात्रि समापन नवरात्रि में नौ दिनों देवी मां के अलग-अलग नौ रुपों की पूजा की जाती है। जो निम्न हैं.....

1. माँ शैलपुत्री 
2. माँ ब्रह्मचारिणी
3. माँ चंद्रघण्टा 
4. माँ कूष्मांडा 
5. माँ स्कंद माता
6. माँ कात्यायनी 
7. माँ कालरात्रि 
8. माँ महागौरी 
9. माँ सिद्धिदात्री 

नवरात्रि पर्व मुख्य रूप से भारत के उत्तरी राज्यों सहित सभी क्षेत्रों में धूम-धाम से मनाया जाता है। नवरात्रि में देवी दुर्गा के भक्त नौ दिनों उपवास रखते हैं तथा माता की चौकी स्थापित की जाती हैं। नवरात्रि के नौ दिनों को बहुत पावन माना जाता है। इन दिनों घरों में मांस, मदिरा, प्याज, लहसुन आदि चीज़ों का परहेज़ कर सात्विक भोजन किया जाता है। नौ दिन उपवास के बाद नवमी या दसवीं पूजन किया जाता है जिसमें कन्या पूजन का भी विशेष महत्व है। नवरात्रि के पहले दिन घटस्थापना करके नौ दिनों तक देवी दुर्गा की आराधना और व्रत का संकल्प लिया जाता है। नवरात्रि के दिनों में चारों ओर माता की चौकी और जगराते कर भजन कीर्तन किया जाता है।

Share this:

Post a comment

 
Copyright © 2019 Vrat Aur Tyohar. | All Rights Reserved '>